मन की आवाज

यह एक जिंदगी की नहीं यह हर नारी की हार है फिर से पराजित हुई नारी हामी भरते हैं हम अपनी आधुनिकता व विकास पर क्रद नहीं करती समाज नारी की जुल्म की शिकार होती रहती है नारी दोषी टहराते हम उसको हमेशा हजारों उंगली उठाते उसकी अदा व पहनावे पर पर बोलो क्या सुरक्षित

Read more 

चाहत बस इतनी

चाहत बस इतनी वह बैठे रहे मेरे संग मैं खुशी से खिलखिलाऊँ और वे मेरे गीतों पर गुनगुनाए ।। © Ila Varma 2015                                                                  Image

Read more 

हार नहीं मानेगें

लाख कोशिशें रंग ना ला सकी हिम्मत ने साथ न देने की कसम खा ली है पर वह नहीं जानती उसने अंजाने में टक्कर ले ली है एक चट्टान से जो टिका है हर जूल्म सह कर हर एक वार ने उसे और मजबूत बना दिया एक चाह जगा गया मुकाबले से मुकाबला करने का

Read more 

अनिश्चित

” जिंदगी हम सब बहुत उत्साह से जीते है   परन्तु मौत को इतनी नजदीक से देख कर लगता है,    इस क्षणभंगुर के पीछे हम इतनी लालायित क्युँ  जो तय तो है पर ठिकाना पता नहीं  वह कब अपने आगोश में हम सब को ले लेगा इस अनिश्चित काल के लिए हम इतना निश्चिंत ।।”  © Ila

Read more 

क्या यही है मेरी खता

क्या यही है मेरी खता कि माँगूं कुछ पल हँस के गुजारने के पर अब लगता की जमाने से  कीमती हीरे जवारत माँगती तो वह काँङियों के मोल में मिल जाते पर खुशी के पल इतनी सस्ती नहीं ।। © Ila Varma 2015                          

Read more 

दो कदम तुम भी चलो….Day VIII

दो कदम तुम भी चलो दो कदम हम भी चलें ।।…… The crush had matured to Love & my heart longed for him. There were significant changes in my routine, woke up early in the morning and practiced the movements taught by him…trying to be more flexible & graceful in movements…The financial market had worn

Read more 

IMPACT OF UNIFORMS: UNIFORMITY

In my childhood days, I used to wonder why is it a compulsion to wear specific  dress code for going to school. Why can’t we flaunt in our colorful dresses of our liking ? Sometimes it felt boring to wear the same dress everyday, all of us marched in Red skirts & White Shirts, Red Ribbons, Red

Read more