जालिम

जालिम संसार  ना सुखी को सुख से रहने दिया और ना ही दु:खी का सहारा बना ।। © Ila Varma 2015  Image Source: Google

बूंदे

बारिश की कुछ बूंदे मिटा गई तपिश धरती की मिट्टी की भीनी खुश्बू से सराबोर हुआ धरती का रग-रग ।। © Ila Varma 2015