Saturday, November 7, 2015

स्याह रात

स्याह रात है
आओ
हम सजा दें
अपने प्यार के सितारों से
रौशन कर दें समां
अपने अरमानों से।

© इला वर्मा 07/11/2015

                                              Source: Google

No comments:

Post a Comment