Tuesday, November 3, 2015

दबी आहें

मेरी इबादत से
उनकी दिन शुरू होती थी
आज भीङ में
पहचानने से इनकार कर दिया
उफ्फ
खुदा मुझसे जूदा हो गया।

© इला वर्मा 03/11/2015

Source: http://wallpoper.com/images

2 comments: